मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान


गांवों में बारिश का पानी बहकर बाहर जाने की बजाय गांवों के ही निवासियों, पशुओं और खेतों के काम आए इसलिए ‘मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान’ मे 7,777 से ज़्यादा गांवों में पानी के ढांचे बनाए जा रहे हैं

इस अनूठी पहल में अब तक 2 तक लाख से अधिक ढांचों का निर्माण किया जा चुका है।

इससे धरती का जल स्तर बढ़ा है, मिट्टी की नमी बढ़ी है और गाँववासियों और पशुओं सभी के लिए पानी इकट्ठा हुआ है।


भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना


पहले : केवल सरकारी अस्पतालों में जांच और दवाइयां मुफ़्त थी

अब : सभी सरकारी और 540 प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती के 7 दिन पहले और 15 दिन बाद तक की जांच, फीस, दवाईयां, ओपरेशन का खर्च सब शामिल


ई-मित्र


पहले : सरकारी काम के लिए दफ़्तरों के चक्कर, घंटों इंतज़ार, समय और पैसा खराब

अब : राजस्थान में घर के पास ई-मित्र पर ही 350 से ज़्यादा सेवाएं उपलब्ध


राशन वितरण


पहले : राशन की दुकान खुली है या नहीं, राशन आया है या नहीं, ये देखने के लिए दुकान के चक्कर लागते थे

अब : दुकान में राशन आते ही मोबाइल पर मैसेज आ जाता है कि राशन आ गया है


राशन वितरण


पहले : रजिस्टर में साइन करके कोई भी किसी का भी राशन ले जाता था

अब : बायोमैट्रिक पहचान से जिसका राशन है उसको ही मिलता है और पूरा मिलता है