आओ साथ चलें

13 दिसम्बर को आपकी अपनी सरकार ने सेवा काल के तीन वर्ष पूरे कर चौथे वर्ष में प्रवेश किया है। विकास की परिकल्पनाओं को साकार करने के लिए यूं तो तीन वर्ष की अवधि कम ही होती है परन्तु आपकी इस सरकार ने प्रदेश में प्रगति के अनेक नए आयाम स्थापित किए हैं। यह सफलता आपके साथ और आपके विश्वास का ही प्रतिफल है।

इस कालखण्ड में हमने 'सुराज संकल्प' में संजोए उन सपनों को हकीकत की ज़मीन पर उतारने का प्रयास किया है जो आपने और हमने मिलकर देखे थे किन्तु विकास का सफर अभी और बाकी है। अभी हमें प्रगति के अनेक सोपान तय करने हैं।

आप तो जानते ही हैं कि इन तीन वर्षों में आपने और हमने कई चुनौतियों का मुकाबला किया। विरासत में मिले आर्थिक संकट से राजस्थान को उबारा और विकास की एक नई इमारत खड़ी की। मुझे यह बताते हुए प्रसन्नता है कि विकास का जो रथ हमने 13 दिसम्बर, 2013 को शुरू किया था, वह आज तरक्की की राह पर तेजी से दौड़ रहा है। आज कई क्षेत्रों में हमारा प्रदेश देश में अग्रणी है। अब बारी है प्रदेश को विकास की नई बुलंदियों तक ले जाने की। आपके साथ और आपके विश्वास की बदौलत हम इसे पूरा कर दिखाएंगे।

आपके साथ से प्रदेश में आशा और विश्वास की ऐसी अविरल धारा प्रवाहित होगी जो स्वच्छ, स्वस्थ, शिक्षित, सशक्त और समृद्ध राजस्थान के निर्माण का हमारा सपना पूरा करेगी। राजस्थान विकास के हर क्षेत्र में आगे बढ़े, विकास का उजाला हर घर तक पहुंचे, इस नेक मकसद को पूरा करने के लिए आओ साथ चलें।

वसुन्धरा राजे

मुख्यमंत्री, राजस्थान