• अभय कमांड सेंटर


अभय कमांड सेंटर

अब और ज़्यादा सुरक्षित होंगे हमारे शहर

अभय कमांड सेंटर राजस्थान पुलिस द्वारा स्थापित अत्याधुनिक कंट्रोल रूम है जहां वीडियो कैमरा रिकॉर्डिंग, कॉल रिकॉर्डिंग, यातायात नियंत्रण, अपराध नियंत्रण, आपात स्थिति में तुरंत सहायता सभी एक ही जगह से संभव है। 16 मार्च 2017 को माननीय मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा जयपुर में अभय कमांड सेंटर का उद्घाटन किया गया है। ये कमांड सेंटर जयपुर के अलावा अजमेर, भरतपुर, बीकानेर, जोधपुर, कोटा व उदयपुर में भी होंगे।

उद्देश्य

  • बेहतर जन सुरक्षा
  • अपराध की पड़ताल करना व सबूत जुटाना
  • आपात स्थिति में पुलिस, एम्बूलेंस व फायर ब्रिगेड की तुरंत पहुंच
  • अपराध नियंत्रण
  • यातायात समस्याओं का समाधान
  • कानून व्यवस्था को बेहतर बनाना

गतिविधियाँ

1. वीडियो द्वारा निगरानी

  • वीडियो मैनेजमेंट सिस्टम (स्टोरेज, संग्रहण व सर्च)
  • सहयोगी कैमरा फीड
  • ड्रोन कैमरा फीड
  • पीसीआर वैन से कैमरा फीड
  • स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर के साथ दुर्घटना प्रबंधन
  • भावी विश्लेषण

2. सीएडी - डायल 100

  • आपातकालीन नम्बर (112) और महिला हैल्पलाइन (1090) का एक ही जगह संचालन
  • आपातकाल में तुरंत सहायता
  • दुर्घटना स्थल पर तुरंत वाहन भेजना
  • कॉल रिकॉर्डिंग
  • रेस्पोंडर सिस्टम (एमडीटीज)
  • ऑटोमैटिक व्हीकल लोकेशन सिस्टम
  • वीडियो इंटरफेस
  • विस्तृत कम्यूनिकेशन प्लेटफॉर्म(ईएसडीएन, वायरलैस, एसएमएस, ई-मेल)

3. इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम

  • नम्बर प्लेट की ऑटोमैटिक पहचान
  • स्पीड जांच
  • रैड लाइट उलंघन की जांच
  • स्टॉप लाइन उलंघन की जांच
  • ई-चालान सिस्टम के साथ इंटीग्रेशन
  • खोये या चुराये गये वाहनों की खोज

4. व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम

  • जीपीएस नेविगेशन सिस्टम के साथ वाहन की लोकेशन, स्पीड व रूट का पता करना
  • ऑटोमेटिड इवेंट लॉगिंग (वाहन की शुरूआत से अंत तक का रूट, आपात रूकावट, दुर्घटना, ब्रेकडाउन आदि) वास्तविक समय पर
  • तेज गति से चलने वाले वाहनों की सूचना कंट्रोल सेंटर तक पहुंचाना
  • फ्लीट संचालन की आवश्यकतानुसार रिपोर्ट प्रदान करना
  • ट्रैनिंग उद्देश्यों के लिए डेटा प्रदान करना

5. फोरेंसिक जांच लैब

  • डिजिटल एवीडेंस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर
  • फेस रिकॉग्निशन सॉफ्टवेयर (चेहरा पहचानना)
  • सोशल मीडिया मोनिटरिंग सिस्टम
  • वीडियो विश्लेषण
  • फोरेंसिक इंवेस्टिगेशन सॉफ्टवेयर
  • फोटो मिलान करना
  • वीडियो धोखाधड़ी को कम करना
  • डिजिटल फोटो के सोर्स कैमरे का पता लगाना
  • एडिट की गई फोटो, वीडियो व पीडीएफ फाइल्स का पता लगाना
  • डिजिटल इमेज और वीडियो के बदलाव किये गये हिस्सों को हाइलाइट करना
  • अपराधी को पकड़ने के लिए वीडियो फुटेज प्राप्त करना व वीडियो साक्ष्य की फोरेंसिक जांच

6. जियोग्राफिकल इंफोरमेशन सिस्टम

  • वीडियो सर्विलांस और डायल 100 सिस्टम का राजधरा के साथ इंटीग्रेशन
  • 1:1000 के पैमाने पर नक्शा
  • पुलिस प्रशासन के लिए लोकेशन ढूंढ़ने में मददगार

17 मार्च 2017