• मुख्यमंत्री निःशुल्क कोचिंग योजना


IIT/IIM/LAW/राष्ट्रीय स्तर के मेडिकल एवं इंजिनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा कोचिंग हेतु

विभाग के राजकीय छात्रावासों में आवासरत पात्र विद्यार्थियों से आवेदन पत्र आमंत्रित

आवेदन हेतु पात्रता

  • प्रार्थी राजस्थान का मूल निवासी हो।
  • विद्यार्थी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के राजकीय छात्रावास में आवासरत हो।
  • विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तरीय तकनीकी/मेडिकल/विधि पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु कोचिंग के लिये कक्षा 11 व 12 में नियमित रूप से अध्ययरत हो।
  • विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तरीय प्रबन्धन शिक्षण संस्थानों यथा (IIM) इत्यादि में प्रवेश के लिए CAT/MAT की कोचिंग के लिए स्नातक/स्नातकोत्तर में राजकीय अथवा मान्यता प्राप्त निजी महाविद्यालय में नियमित रूप से अध्ययनरत हो।
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष पिछड़ा वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग तथा सामान्य वर्ग के विद्यार्थी के माता-पिता/अभिभावकों की वार्षिक आय (अभ्यर्थी की आय को सम्मिलित करते हुए यदि है तो) 2.5 लाख (दो लाख पचास हज़ार रुपये) से अधिक न हो।
  • विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग, मेडिकल पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं हेतु कोचिंग सुविधा हेतु अधिकतम दो वर्ष के लिए तथा विधि एवं प्रबन्धन पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं हेतु कोचिंग सुविधा केवल एक वर्ष के लिए देय होगी।

श्रेणीवार एवं कक्षावार न्यूनतम पात्रता की प्रतिशतता

कक्षा श्रेणी न्यूनतम प्राप्तांक का प्रतिशत मेडिकल कोचिंग के लिए न्यूनतम प्रतिशतता
10 अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/विशेष पिछड़ा वर्ग 60 प्रतिशत 70 प्रतिशत
10 अन्य पिछड़ा वर्ग/सामान्य 70 प्रतिशत 80 प्रतिशत
स्नातकोत्तर स्तरीय पाठ्यक्रम अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/विशेष पिछड़ा वर्ग/अन्य पिछड़ा वर्ग/सामान्य 60 प्रतिशत -

कोचिंग कोटा व जयपुर के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों में करवाई जायेगी। कोटा एवं जयपुर दोनों स्थानों पर सभी वर्गों के 500-500 विद्यार्थियों का प्रतिवर्ष चयन किया जायेगा। इनमें से 30 प्रतिशत स्थान सम्बन्धित श्रेणी की छात्राओं के लिए आरक्षित होंगे। छात्राऐं नही मिलने पर रिक्त स्थान उसी वर्ग के छात्रों से भरे जा सकेंगे।

कोचिंग हेतु आवेदन पत्र निर्धारित प्रारूप में, जोकि विभागीय वेबसाइट- www.sje.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध है, दिनांक 30 जून, 2017 तक अपने सम्बन्धित छात्रावास अधीक्षक को उपलब्ध करा सकेंगे।

21 अप्रैल 2017